AAP की नजर पंजाबी वोटरों पर : बाबा बंदा सिंह बहादुर के नाम पर रखा फ्लाईओवर का नाम

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी सरकार का आज फिर दिल्ली के अखबारों में एक एड छपा है। इस एड में लिखा है कि सरकार ने बारापुला फ्लाईओवर का नाम सिख आइकॉन बाबा बांदा सिंह बहादुर के नाम पर रखा गया है। सरकार ने यह फैसला बाबा बांदा सिंह बहादुर की 300वीं शहादत दिवस के मौके पर लिया है।
दिल्ली में शहीद हुए थे बाबा बांदा सिंह बहादुर…
 -बाबा बांदा सिंह बहादुर एक हिंदू तपस्वी थे जो कि दसवें सिख गुरू गोबिंद सिंह जी के संपर्क में आने के बाद सिख बन गए थे।
-बाबा बांदा सिंह बहादुर को पंजाब और देश के दूसरे हिस्सों में रह रहे सिखों और हिंदुओं के बीच बेहद सम्मान की नजरों से देखते हैं।
-गुरू गोबिंद सिंह जी के आदेश का पालन करते हुए बाबा बंदा सिंह बहादुर ने मुगलों से लड़ने के लिए सेना का गठन किया था।
-उन्होंने पंजाब में अपनी सत्ता स्थापित की थी। उन्हें 1715 में मुगलों द्वारा पकड़ लिया गया और दिल्ली लाया गया जहां लोगों के सामने उन्हें कत्ल कर दिया गया।
-महरौली में कुतुब मीनार के पास गुरुद्वारा शहीदी स्थान बाबा बंदा सिंह बहादुर उसी जगह पर स्थित है जहां उनकी शहादत हुई थी।
क्या कहना है AAP का?
-पार्टी की तरफ से जारी की गई ऑफिशियल स्टेटमेंट में कहा गया, ‘दिग्गज सिख योद्धा के नाम पर फ्लाईओवर का नाम रखने की मांग कई बार की गई। उनकी शहादत महरौली के में हुई थी।’
-बयान में कहा गया है कि यह फैसला एक मीटिंग में लिया गया जिसकी अध्यक्षता डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने की थी।
शुक्रवार को भी छपा था दिल्ली की अखबारों में सरकार का एड
शुक्रवार को दिल्ली के सभी प्रमुख अखबारों में पूरे पेज का एडवरटाइजमेंट छपा जिसमें आम आदमी पार्टी की सरकार पंजाबी भाषा के विकास के लिए दो अहम फैसलों का जिक्र किया गया था।
-दिल्ली सरकार के इस एड में छपा था ‘पंजाबी भाषा को बढ़ावा देने के लिए दि‍ल्ली सरकार के अहम फैसले।’

-इसके बाद लिखा था, ‘अब हर सरकारी स्‍कूल में कम से कम एक पंजाबी टीचर जरूर होगा। -इसके बाद लिखा था, ‘पंजाबी टीचर्स का वेतन बढ़ाया।’
-इस विज्ञापन के छपने के बाद कांग्रेस और बीजेपी ने आप सरकार पर निशाना साधा था।
-बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि पंजाब चुनाव को ध्यान में रखकर दिल्ली सरकार बड़े बड़े विज्ञापन दे रही है। यह पंजाब चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश है। ये दिल्ली सरकार की अनैतिकता की पराकाष्ठा है।
क्यों उठ रहे हैं इस विज्ञापनों पर सवाल…
– गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी पूरी ताकत झोंक रही है।
-पंजाब आप के लिए एक अहम स्टेट हैं। लोकसभा चुनाव में पंजाब ही ऐसा राज्य था जहां पार्टी को कामयाबी हाथ लगी थी। पार्टी ने यहां से चार सीटें जीती थीं।
-पंजाब को आप कितनी सीरियसली ले रही है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सीएम अरविंद केजरीवाल खुद पंजाब के कई दौरे कर चुके हैं। उन्होंने वहां कई सभाओं को भी संबोधित किया था।
-पंजाब से जुड़े हर मसले को केजरीवाल खुद उठा रहे हैं। सतलुज-यमुना लिंक नहर के मुद्दे से लेकर उड़ता पंजाब विवाद तक उन्होंने हर मसले पर अपनी राय रखी।
-दि‍ल्ली में सिखों की आबादी कुल पापुलेशन की 4 % के लगभग है।
-पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों में भी आप को सिखों के वोट बड़ी संख्‍या में मिले थे।
-दि‍ल्ली में सिख बहुल तिलक नगर, हरि नगर, राजौरी गार्डन, शाहदरा और कालकाजी सीटें जीती थीं।