Air Strike पर उठने वाले सवालों का वायुसेना प्रमुख ने ये दिया जवाब

भारत का मोस्ट वांटेड आतंकवादी और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (jaish e mohammed ) के कैंपो पर एयर स्‍ट्राइक (Air Strike) के बाद वायुसेना प्रमुख धनोवा ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि अगर जंगल में बम गिरता तो पाकिस्‍तान बोलता ही नहीं. वायुसेना प्रमुख ने हर उस सवाल का जवाब दिया जो लोगों के जेहन में हैं. आइए देखें उन पांच महत्‍वपूर्ण सवालों को जिसका जवाब वायुसेना प्रमुख ने पत्रकारों को दिया.

सवाल नंबर 1ः एयरस्ट्राइक के दौरान कितने आतंकी मारे गए?

जवाब- मरने वालों की संख्या के बारे में भारतीय वायुसेना को कोई जानकारी नहीं है. इसे सरकार स्पष्ट करेगी. हमें टारगेट दिया जाता है और हम उस टारगेट को उड़ाते हैं. मरने वालों की संख्या गिनने का काम हमारा नहीं है.

सवाल नंबर 2ः पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मिग-21 से क्यों जवाब दिया गया?

जवाब- मिग -21 बाइसन एक सक्षम विमान है, इसे उन्नत किया गया है. इसमें बेहतर रडार, हवा से हवा में मिसाइल और बेहतर हथियार प्रणाली है. एक योजनाबद्ध ऑपरेशन होता है, जिसमें आप योजना बनाते हैं और अपने फाइटर जेट को ले जाते हैं. लेकिन जब कोई आप पर हमला करता है, तो आप उसका तुरंत जवाब देते हैं. चाहे उस समय आपके पास कोई फाइटर जेट मौजूद हो. हमारे सभी लड़ाकू विमान दुश्मन से लड़ने में सक्षम हैं.

सवाल नंबर 3ः विंग कमांडर अभिनंदन अब कब फाइटर प्लेन उड़ाएंगे?

जवाब- वह (विंग कमांडर अभिनंदन) फाइटर प्लेन उड़ाते हैं या नहीं, यह उनके मेडिकल फिटनेस पर निर्भर करेगा. पोस्ट इजेक्शन उनकी मेडिकल जांच हुई है, जो भी उपचार की आवश्यकता होगी, दिया जाएगा. एक बार जब हमें उनका मेडिकल फिटनेस मिल जाएगा, फिर वह फाइटर जेट के कॉकपिट में जा सकेंगे.

सवाल नंबर 4ः  एफ-16 का इस्तेमाल करके क्या पाकिस्तान ने अमेरिका के साथ हुए अपने समझौते को तोड़ा है?

जवाब- मुझे पाकिस्तान और अमेरिका के बीच हुए समझौते के बारे में जानकारी नहीं है. अगर इस समझौते के तहत पाकिस्तान को एफ-16 से किसी देश पर हमला नहीं करना था तो उन्होंने यह समझौता तोड़ा है. हमारे पास सबूत हैं कि उन्होंने एफ-16 का इस्तेमाल किया और उससे मिसाइल दागे. इस दौरान उनके एक एफ-16 को हमने मार भी गिराया.

सवाल नंबर 5ः क्या आतंकियों के खिलाफ भारतीय वायुसेना फिर से कार्रवाई करेगी?

जवाब- अभी भारतीय वायुसेना का ऑपरेशन चल रहा है. यह रुका नहीं है. इसलिए अभी हम कोई टिप्पणी नहीं करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *