IND vs SA: आखिरी टेस्ट 3 दिसंबर से, कोटला में 22 साल से नहीं हारी टीम इंडिया

नई दिल्ली. साउथ अफ्रीका के खिलाफ दो टेस्ट जीतकर मौजूदा सीरीज अपने नाम कर चुकी टीम इंडिया आखिरी टेस्ट 3 दिसंबर से दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर खेलेगी। बता दें कि टेस्ट मैचों में कोटला की पिच टीम इंडिया के लिए लकी रही है। इंडिया यहां पिछले 22 साल से जीत रही है।
इसी मैदान पर भारत ने 1993 के बाद से कोई मैच नहीं गंवाया है। वैसे कोटला में भारत को पहली बार द. अफ्रीका की चुनौती मिलेगी। आखिरी बार इस मैदान पर भारतीय टीम को 1987 में वेस्टइंडीज ने 5 विकेट से मात दी थी। पिछले रिकॉर्ड को देखते हुए कहा जा सकता हे कि टीम इंडिया 3-0 से सीरीज में जीत हासिल कर सकती है। मोहाली में भारत ने 108 रन की जीत के साथ सीरीज में जीत का खाता खोला था। इसके बाद बेंगलुरू में खेला गया दूसरा टेस्ट बारिश में धुल गया। तीसरा मैच नागपुर में खेला गया, जहां भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 124 रन से करारी शिकस्त दी।
पिछले 10 में 9 टेस्ट जीते
भारत ने कोटला के मैदान पर पिछले 10 में से नौ टेस्ट जीते हैं। इस दौरान भारत ने यहां जिम्बाब्वे, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, पाकिस्तान और वेस्टइंडीज की टीम को हराया है। 2007 में ऑस्ट्रेलिया के साथ खेला गया टेस्ट मैच ड्रॉ हुआ था। अाखिरी बार इस मैदान पर 2013 में भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें भिड़ी थीं। इसमें भारत ने तीन दिन में जीत हासिल की थी।
खास रिकॉर्ड
इस मैदान पर ‘परफेक्ट टेन’ का सबसे बड़ा कमाल महान लेग स्पिनर अनिल कुंबले ने किया है। कुंबले ने यहां पाकिस्तान के खिलाफ एक पारी में सभी 10 विकेट लिए थे। साथ ही एक मैच में सबसे ज्यादा विकेट (14) और इस मैदान पर सबसे ज्यादा बैट्समैन को आउट (7 मैच में 58 विकेट) करने का रिकॉर्ड बनाया है।
सबसे ज्यादा रन
इस मैदान पर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड सचिन तेंडुलकर के नाम है। सचिन ने यहां 10 मैच में 759 रन बनाए।
बड़ा स्कोर
कोटला के मैदान पर सबसे बड़ा स्कोर वेस्टइंडीज ने 1959 में बनाया था। भारत के खिलाफ वेस्टइंडीज ने दूसरी इनिंग में 8 विकेट पर 644 रन बनाए थे। भारत का सबसे बड़ा स्कोर 7 विकेट पर 613 रन का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *