J&K के सुम्बल में 4 आतंकी मारे गए, CRPF कैम्प में सुसाइड अटैक की कोशिश

जम्मू. जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा के सुम्बल में सोमवार तड़के 4 बजे सीआरपीएफ कैम्प पर आतंकी हमला हुआ। इसमें सिक्युरिटी फोर्सेस ने 4 आतंकी मारे। ये हमला सीआरपीएफ की 45 बटालियन के कैम्प पर हुआ। आतंकी सुसाइड अटैक करने के इरादे से घुसे थे।
काफी तादाद में अस्लहा बरामद…
– सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर योगेश कुमार ने बताया, “सोमवार तड़के करीब आतंकियों ने कैम्प में घुसने की कोशिश की। वे फिदायीन हमला करने की फिराक में थे। चारों आतंकियों को मार गिराया गया।”
– आतंकियों के पास से 4 एके-47 राइफल्स, एक ग्रेनेड लॉन्चर, दर्जनभर से ज्यादा ग्रेनेड और काफी तादाद में गोला-बारूद बरामद किया गया है।
– जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने ट्वीट किया, “सुम्बल में सिक्युरिटी फोर्सेस ने सीआरपीएफ कैम्प पर सुसाइड अटैक की कोशिश नाकाम कर दी। 4 आतंकी मारे गए।”
2 दिन पहले आर्मी के काफिले पर हुआ था हमला
– अनंतनाग जिले में शनिवार को आतंकियों ने आर्मी के काफिले पर हमला किया। काफिले पर फायरिंग जिले के काजीगुंड इलाके में हुई। इसमें 2 जवान शहीद और 5 जख्मी हो गए थे।
– वहीं, पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ और कृष्णा घाटी सेक्टर में सीजफायर वॉयलेशन किया था। पुंछ में शुक्रवार रात 11 बजे से पाक की तरफ से मोर्टार दागे गए। वहीं, कृष्णा घाटी सेक्टर में शनिवार को फायरिंग की गई। भारत की तरफ से भी इसका जवाब दिया गया।
एक जून को भारत ने पाक के 5 जवान मारे
– एक जून को जम्मू-कश्मीर के भिम्बर और बट्टाल सेक्टर में इंडियन आर्मी ने पाकिस्तानी जवानों की फायरिंग का जवाब दिया। इस दौरान PAK के 5 जवान मारे गए और 6 घायल हुए।
– इसको लेकर पाकिस्तान ने एलओसी पर कथित फायरिंग के आरोप में भारत के डिप्टी हाई कमिश्नर जेपी सिंह को समन भेज तलब किया।
– गुरुवार को ही बारामूला के सोपोर में हुए एनकाउंटर में दो आतंकी मारे गए। ये आतंकी एक घर में छिपे हुए थे। सोपोर के नाटीपोरा इलाके में तड़के 3.30 से फोर्सेस ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया था।
– वहीं, एलओसी के पास नौशेरा और कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तान ने सीजफायर वॉयलेशन किया। भारत की तरफ से भी इसका जवाब दिया गया। गोलीबारी में जनरल रिजर्व इंजीनियरिंग फोर्स (GREF) के एक मजदूर की मौत हो गई और 2 सिविलियन्स घायल हो गए थे।
पाक ने 2015 और 2016 में रोज किया सीजफायर वॉयलेशन
– गृह मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान ने 2015 और 2016 में रोज सीजफायर वॉयलेशन किया। इन 2 सालों में पाक के सीजफायर वॉयलेशन में भारत के 23 जवान शहीद हुए। एक आरटीआई के जवाब में होम मिनिस्ट्री ने ये बातें कही थीं।
– होम मिनिस्ट्री की रिपोर्ट के मुताबिक, 2012 से 2016 के दौरान जम्मू-कश्मीर में 1,142 आतंकी घटनाएं हुईं। इसमें 236 जवान शहीद हुए और 90 सिविलियन्स भी मारे गए।
– “2012-16 के दौरान ही सिक्युरिटी फोर्सेस ने 507 आतंकियों को मार गिराया।”
– गृह मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा, “पाकिस्तान ने 2016 में लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर 449 और 2015 में 405 बार सीजफायर वॉयलेशन किया।”
जम्मू-कश्मीर में कितनी आतंकी घटनाएं?
– होम मिनिस्ट्री के मुताबिक, “2012 में जम्मू-कश्मीर में 220 और 2016 में 322 आतंकी घटनाएं हुईं। 2016 में 82 जवान शहीद हुए और 15 सिविलियन्स मारे गए।”
– “2015 में 208 आतंकी घटनाएं हुईं। 39 जवान शहीद हो गए और 17 सिविलियन्स मारे गए। इस साल एनकाउंटर में सिक्युरिटी फोर्सेस ने 108 आतंकियों को मार गिराया।”
– “2013 में 170 आतंकी हमले हुए, जिसमें 53 जवान शहीद हो गए और 15 सिविलियन्स की मौत हो गई। फोर्सेस ने 67 आतंकियों को ढेर कर दिया।”
– “2014 में आतंकी घटनाओं में 47 जवान शहीद हुए, 28 सिविलियन्स मारे गए। फोर्सेस के साथ एनकाउंटर में 110 आतंकी मारे गए।”
– “2012 में 220 आतंकी हमलों में 15 जवान शहीद हुए। एनकाउंटर में फोर्सेस ने 72 टेररिस्ट को मार गिराया।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *