PAK की सउदी अरब से गुजारिश नवाज-ट्रम्प की मुलाकात करा दो

नई दिल्ली. पाकिस्तान ने सउदी अरब से गुजारिश की है कि वो रविवार को डोनाल्ड ट्रम्प और नवाज शरीफ की मुलाकात कराने में मदद करे। ट्रम्प बतौर यूएस प्रेसिडेंट पहली फॉरेन विजिज पर रियाद में हैं। वो यहां अरब-नाटो समिट में हिस्सा लेंगे। बता दें कि नरेंद्र मोदी और ट्रम्प के बीच अगले महीने मुलाकात का प्रोग्राम है। हालांकि, इसकी डेट्स अभी अनाउंस नहीं की गई हैं।
ट्रम्प और नवाज की मीटिंग एजेंडे में नहीं….
– पाकिस्तान के अखबार ‘द ट्रिब्यून’ ने डिप्लोमैटिक सोर्सेस के हवाले से बताया- पाकिस्तान ने सउदी अरब से गुजारिश की है कि वो अरब-नाटो मीटिंग के दौरान नवाज शरीफ और ट्रम्प की मुलाकात की व्यवस्था करे।
– रिपोर्ट के मुताबिक- पाकिस्तान ने सउदी से कहा है कि भले ही ये मुलाकात बेहद कम वक्त के लिए हो, लेकिन होनी चाहिए और भी वन-टू-वन। यानी मुलाकात में सिर्फ ट्रम्प और नवाज की ही मौजूदगी हो।
मुलाकात हुई तो क्या करेंगे शरीफ?
– रिपोर्ट के मुताबिक- अगर शरीफ और ट्रम्प के बीच मुलाकात होती है तो पाकिस्तानी पीएम आतंकवाद और कश्मीर में ह्यूमन राइट्स वॉयलेशन का मुद्दा उठा सकते हैं।
– बता दें कि अरब देशों और अमेरिका के बीच ट्रम्प के प्रेसिडेंट बनने के बाद यह पहली मीटिंग है। मीटिंग इसलिए भी खास हो जाती है क्योंकि ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन कुछ मुस्लिम देशों के अमेरिका आने पर बैन लगा चुकी है।
– ट्रम्प पहले ही साफ कर चुके हैं कि समिट के दौरान वो इस्लामिक देशों के 54 नेताओं के सामने आतंकवाद का मुद्दा उठाएंगे। प्रोग्राम के मुताबिक, ट्रम्प सिर्फ सऊदी किंग सुलेमान बिन अब्दुल अजीज से ही पर्सनल मुलाकात करेंगे।
मोदी से मुलाकात अगले महीने संभव
– मोटी और ट्रम्प की पहली वन-टू-वन मुलाकात अगले महीने यानी जून में हो सकती है।
– अमेरिकी एनएसए मैक्मस्टर पिछले महीने भारत आए थे और उन्होंने अपने काउंटर पार्ट अजीत डोभाल के अलावा मोदी से भी मुलाकात की थी।
– अमेरिकी एनएसए फॉरेन सेक्रेटरी जयशंकर से भी मिले थे। माना जा रहा है कि मोदी जी-20 समिट के लिए अगले महीने जब अमेरिका जाएंगे तभी उनकी ट्रम्प से मुलाकात होगी।