RJD के पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह 22 साल पुराने MLA मर्डर केस में दोषी करार

पटना.लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को एमएलए अशोक सिंह की हत्या के मामले में हजारीबाग की एक अदालत ने दोषी करार दिया। अशोक सिंह का मर्डर 1995 में हुआ था। सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। सजा 23 मई को सुनाई जाएगी।
लालू के करीबी हैं प्रभुनाथ…
– अशोक सिंह सारण जिले के मशरक से जनता दल के विधायक थे। 1995 में उनकी हत्या उनके ऑफिशियल रेजीडेंस पर की गई थी।
– केस की सुनवाई हजारीबाग की अदालत में हुई। प्रभुनाथ सीवान जिले के रहने वाले हैं और महाराजगंज से सांसद रह चुके हैं।
शहाबुद्दीन के साथ भी है रंजिश
– प्रभुनाथ और सीवान के पूर्व बाहुबली सांसद शहाबुद्दीन के बीच पुरानी रंजिश रही है।
– दोनों के समर्थकों के बीच कई बार झड़पें भी हो चुकी हैं।
महाराजगंज से पहली बार जीते थे चुनाव
– प्रभुनाथ सिंह ने पहली बार महाराजगंज संसदीय सीट से 2004 में जेडीयू के टिकट पर जीत हासिल की थी।
– 2009 के लोकसभा चुनाव में आरजेडी के उमाशंकर सिंह ने प्रभुनाथ को हराया था।
– प्रभुनाथ 2012 में जेडीयू छोड़कर आरजेडी में शामिल हो गए। उन्हें लालू प्रसाद यादव का करीबी माना जाता है।