TEACHERS DAY: अपने करियर में कभी बच्चों को पढ़ाते थे ये राजनेता

नई दिल्ली. आज देश के पहले उपराष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन है। राजनीति में आने से पहले वह 40 साल तक एक टीचर थे। 1962 से हर साल उनके जन्मदिन (5 सितंबर) को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन शिक्षा के क्षेत्र में अहम योगदान देने वाले शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है। dainikbhakasr.com आपको बता रहा है कि देश के उन राजनेताओं के बारे में, जो राजनीति और संवैधानिक पदों पर बैठने से पहले एक टीचर भी रहे हैं।
डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन
5 सितंबर 1888 को चेन्नई से 64 किलोमीटर दूर तिरुत्तनि में भारत के दूसरे राष्ट्रपति और पहले उपराष्ट्रपति का जन्म हुआ था। राजनीति में जाने से पहले वे एक जाने-माने शिक्षाविद् थे। एक साधारण परिवार में जन्म लेने वाले राधाकृष्णन ने मद्रास प्रेसीडेंसी कॉलेज से बतौर शिक्षक अपने करियर की शुरुआत की थी। इसके अलावा, ‘अर्ल ऑफ विलिंगडन’ की उपाधि मिलने के बावजूद उन्होंने कभी इसका इस्तेमाल नहीं किया। उन्होंने सदैव ‘डॉ.’ ही लिखा।