US में CEO बोले- मोदी ने सुधार किए पर हमें चाहिए और सुविधाएं

न्यूयॉर्क। अमेरिका दौरे के पहले दिन पीएम नरेंद्र मोदी ने Fortune 500 में शामिल 40 टॉप CEO’s से मुलाकात की। CEO’s के साथ हुई राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस में पीएम ने भारत में इनवेस्टमेंट के लिए सुझाव मांगे। उन्होंने भारत में बिजनेस करने को लेकर सभी की चिंताओं की लिस्ट भी मांगी। इस दौरान इंडस्ट्री लीडर्स का कहना था कि पीएम ने पिछले एक साल में कई सुधार किए हैं, पर हमें और सुविधाएं चाहिए। इससे पहले पीएम मोदी अमेरिका के आठ बड़ी फाइनेंशियल कंपनियों के सीईओ से मिले। पीएम ने अमेरिका की दिग्गज कंपनियों को भरोसा दिलाया कि उनकी सरकार भारत में इनवेस्टमेंट की राह आसान करने की दिशा में काम कर रही है।
पीएम से मिलने वाले टॉप CEO’s में भारतीय मूल के अजय बांगा भी शामिल थे। अजय मास्टर कार्ड के सीईओ हैं। उन्होंने कहा कि मोदी की सरकार बनने के बाद भारत की इकनॉमिक पॉवर में सुधार आया है। उन्होंने कहा कि भारत और चीन में दुनिया की आधी आबादी रहती हैं। दोनों देशों में अपार संभावनाएं हैं। भारत को अपने यहां इनवेस्टमेंट के लिए बेहतर माहौल बनाना चाहिए। उसे चीन में हो रहे इनवेस्टमेंट से चिंतित होने की जरूरत नहीं है।
मोदी ने कहा-बेहतर हुए हालात
मोदी ने यहां कहा कि 2014-15 में उनकी सरकार के कदमों के कारण जीडीपी 7.3% पर पहुंच गई और देश में विदेशी इनवेस्टमेंट भी 40% बढ़ा है। उन्होंने कहा कि पिछले 15 महीने में देश में टैक्सेशन, एफडीआई, इनफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के बारे में ऐसे फैसले हुए हैं जिससे इनवेस्टमेंट और बिजनेस करने का माहौल सुधरा है।मोदी ने कहा कि वर्ल्ड बैंक, अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष और मूडीज जैसी ऑर्गनाइजेशन का भी मानना है कि भारत में इकोनॉमी के और ऊपर जाना तय है। वहीं, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने बताया कि सभी CEO’s ने इकोनॉमिक रिफॉर्म्स की तारीफ की है। सभी ने माना है कि भारत में इनवेस्टर्स को अट्रेक्ट करने की क्षमता है।
यूएस के मीडिया दिग्गजों से भी मिले मोदी
CEO’s से मुलाकात से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने दुनिया के बड़े ब्रॉडकास्टिंग कंपनियों के आला अफसरों से भी मुलाकात की। इनमें न्यूज कॉर्प, 21st सेंचुरी फॉक्स, सोनी, ईएसपीएन, डिस्कवरी जैसे बड़े चैनल के CEO’s शामिल थे। उन्होंने राउंड टेबल कांफ्रेंस में ब्रांड इंडिया पर बात की।
मोदी ने की शेख हसीना से मुलाकात
इससे पहले, पीएम बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना से मिले। यूएन समिट के पहले दोनों नेताओं की ये शिष्टाचार मुलाकात थी। सूत्रों के अनुसार, मोदी ने इस साल जून में अपनी ढाका यात्रा के दौरान हुए फैसलों को आगे बढ़ने को लेकर बात की।
वर्ल्ड मीडिया ने क्या कहा?
>वॉशिंगटन पोस्ट
सिलिकॉन वैली में मोदी टेक दिग्गजों से मिलेंगे और भारतीय स्टार्ट अप कम्युनिटी को बढ़ावा देने की कोशिश करेंगे। भारत को बड़ा बाजार बताते हुए उन्हें इनवेस्टमेंट के लिए अट्रैक्ट करने की कोशिश करेंगे।
>द गार्डियन
नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा का मकसद भारत की टेक्नोलॉजी गुडविल को मजबूत करना है। इस दौरे से मोदी उम्मीद कर रहे हैं कि ग्लोबल आईटी इंडस्ट्री से जुड़े लोग भारत में टेक्नोलॉजी के मॉडर्नाइजेशन में योगदान दे सकें।
>वॉल स्ट्रीट जर्नल
मोदी ने देश की ग्लोबल प्रोफाइल बढ़ाने का एक और कामयाब कोशिश की है। सत्ता में आने के 16 महीने के भीतर ही मोदी भारत को अमेरिका के करीब लाने में सफल रहे हैं। चीन एशिया में विदेश नीति को लेकर मुखर हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *