ZIM vs IND: सीरीज पर टीम इंडिया का कब्जा, मैच में ये 5 चीजें रहीं खास

खेल डेस्क. टीम इंडिया ने रविवार को जिम्बाॅब्वे को दूसरे वनडे मैच में 62 रन से हरा दिया। मुरली विजय (72) और कप्तान अजिंक्य रहाणे (63) की हाफ सेन्चुरी और भुवनेश्वर कुमार (33 रन पर चार विकेट) की शानदार बॉलिंग से टीम इंडिया को जीत मिली। भारत अब तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 की विजयी बढ़त बना चुका है। टीम ने पहला मैच 4 रन से जीता था। भारत ने पिछले बांग्लादेश दौरे में अपनी सीनियर टीम उतारी थी, लेकिन वह सीरीज 1-2 से हार गया था। जिम्बॉब्वे दौरे पर गई टीम में ज्यादातर खिलाड़ी यंग हैं। टीम की कप्तानी भी पहली बार नए कप्तान अजिंक्य रहाणे को दी गई है। यहां सीरीज जीतकर इस टीम ने खुद को साबित किया है।
मैच का रोमांच
भारत ने विजय और रहाणे के बीच पहले विकेट के लिए 112 रन की पार्टनरशिप की मदद से 50 ओवर में आठ विकेट पर 271 रन का स्कोर बनाया। जवाब में जिम्बॉब्वे 49 ओवर्स में 209 रन पर ही सिमट गई। जिम्बॉब्वे के लिए ओपनर चिभाभा ने 100 बॉल्स में 72 रन बनाए, लेकिन उन्हें दूसरे बैट्समैन से कोई हेल्प नहीं मिली। भुवनेश्वर के अलावा धवल कुलकर्णी, हरभजन सिंह, स्टुअर्ट बिन्नी और अक्षर पटेल ने एक-एक विकेट लिया।
मैच में ये बातें रहीं खास
* ओपनिंग जोड़ी का रिकॉर्ड प्रदर्शन
* रायुडू के उपयोगी 41 रन
* भुवनेश्वर की शानदार बॉलिंग
* रहाणे का शानदार कैच
* भज्जी की स्पिन का कमाल
1. ओपनिंग जोड़ी का रिकॉर्ड प्रदर्शन
भारतीय टीम के लिए मैच में सबसे अहम बात उसकी ओपनिंग पेयर रही। रहाणे और मुरली ने पहले विकेट के लिए 112 रन जोड़े। जिम्बॉब्वे में भारत की ओर से पहले विकेट के लिए 133 रनों का रिकॉर्ड सचिन और गांगुली के नाम है। इन दोनों ने 2001 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ यह रिकॉर्ड कायम किया था। हालांकि, रहाणे और विजय जिम्बॉब्वे में खेलते हुए उसी के खिलाफ पहले विकेट के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड बनाने में सफल रहे। इससे पहले यह रिकॉर्ड वीरेंद्र सहवाग और सचिन के नाम था। दोनों ने 2003 में पहले विकेट के लिए 99 रन जोड़े थे। हरारे में भारत की ओर से पहले विकेट के लिए की गई पांच बड़ी साझेदारियों में से चार में गांगुली, सचिन और सहवाग शामिल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *