आई.टी. तकनीक से जुड़ें बोर्ड और परिषद : श्री कावरे

आयुष (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री श्री रामकिशोर कावरे ने कहा है कि मध्यप्रदेश आयुर्वेदिक तथा यूनानी चिकित्सा पद्धति एवं प्राकृतिक चिकित्सा बोर्ड और मध्यप्रदेश राज्य होम्योपैथी परिषद को आई.टी. तकनीक से जोड़ा जाये। बोर्ड और परिषद की कार्य-प्रणाली में अधिक से अधिक काम आई.टी. तकनीक के माध्यम से हों। श्री कावरे शुक्रवार को मंत्रालय में आयुष विभाग से संबंधित बोर्ड और परिषद की गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव श्रीमती करलिन खोंगवार उपस्थित थीं।

राज्य मंत्री श्री कावरे ने बैठक में मेम्बर ऑफ बोर्ड, विभिन्न पदों की स्थिति, नियम एवं अधिनियम, बोर्ड के कार्य, पंजीयन की स्थिति तथा ऑडिट रिपोर्ट की जानकारी ली। उन्होंने समस्याओं के निदान पर विचार-विमर्श भी किया। बैठक में परिषद के अधिकार एवं शक्तियाँ, परिषद में स्वीकृत पद, रजिस्ट्रेशन, वेरिफिकेशन और रिन्युअल की स्थिति पर भी चर्चा की गई।

राज्य मंत्री ने कहा कि हमारा प्रयास है कि संबंधित कार्यालयों की स्थिति अच्छी हो। सुविधाएँ उपलब्ध हों। काम करने वालों को प्रशंसा मिले और लापरवाही करने वालों पर कार्यवाही हो।

बैठक में बताया गया कि बोर्ड में रजिस्टर चिकित्सा व्यवसाइयों की संख्या 51 हजार 87 है। इसी प्रकार परिषद द्वारा संधारित राज्य रजिस्टर में पंजीकृत होम्योपैथिक चिकित्सकों की संख्या 20 हजार 632 है। बैठक में बोर्ड के प्रशासक डॉ. पी.सी शर्मा, रजिस्ट्रार डॉ. पंकज शर्मा, परिषद के प्रशासक श्री पंकज शर्मा और रजिस्ट्रार डॉ. आयशा अली उपस्थित थीं।