नई दिल्ली। जहां देश में कोरोना की दूसरी लहर धीमी पड़ती दिखाई दे रही है। वहीं अभी भी पूर्वोतर राज्यों सहित केरल, महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मरीजों ने एक बार फिर से देशवासियों को चिंता में डाल दिया है। इसीलिए
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर पूर्वोत्तर के आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ आज वर्चुअल बैठक करेंगे। यह बैठक सुबह 11 बजे से शुरू होगी। इससे पहले पिछले बुधवार को कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने पूर्वोत्तर राज्यों के स्वास्थ्य सचिवों के साथ कोरोना के ताजा हालात की समीक्षा बैठक की थी।

देश के असम, मेघालय, नगालैंड, त्रिपुरा, सिक्किम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर इस महीने की शुरुआत में केंद्रीय टीम ने भी इन राज्यों का दौरा किया था। बता दें कि देश में कोरोना के 80 फीसद मामले 90 जिलों में हैं जिनमें से 14 पूर्वोत्तर राज्यों के जिले हैं। देश में 73 जिलों में पाजिटिविटी रेट 10 फीसद से अधिक है। इनमें से 46 जिले पूर्वोत्तर राज्यों से हैं। शोधकर्ताओं व वैज्ञानिकों का कहना है कि इसके पीछे क्र फैक्टर है। इस फैक्टर से पता चलता है कि कोरोना से संक्रमित एक व्यक्ति द्वारा दूसरे कितने व्यक्तियों को संक्रमित करने की संभावना है।

पिछले दिनों कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने देश में हाहाकार की स्थिति बना दी थी जिसमें अब राहत के संकेत मिलने लगे हैं। हालांकि इन राज्यों में जमीनी स्तर पर केंद्र सरकार की टीम काम कर रही है स्वास्थ्य मंत्रालय की डॉ भारती परवीन पवार ने कहा, ‘केंद्र सरकार की टीम जमीनी स्तर पर काम कर रही है। हम लगातार हालात पर नजर रख रहे हैं, नियमित तौर पर राज्य सरकारों से फीडबैक ले रहे हैं। अभी कोविड-19 खत्म नहीं हुआ है।’

मध्यप्रदेश सहित छत्तीसगढ़, राजस्थान और देश के सबसे बढ़ सूबे उत्तरप्रदेश में लगातार कोरोना की दूसरी लहर कमजोर होते देख प्रदेश की सरकारों ने कोरोना को कंट्रोल करने लगाए गए प्रतिबंधों को कम करना प्रारंभ कर दिया है। इसी के मद्देनजर मध्यप्रदेश में अब रात 10 बजे तक बाजार खुल सकेगे। साथ ही प्रदेश के सिनेमाघरों में भी 50 प्रतिशत क्षमताओं के अनुसार शो प्रारंभ किए जा सकेगे। यह फसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कल हुई कोरोना समीक्षा बैठक में लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *