भोपाल। ओमीक्रोन की दस्तक के बाद से ही प्रदेश में कोरोना अब बेकाबू होता दिखाई दे रहा है। जहां एक सप्ताह में कोरोना संक्रमितों ने तेजी से बढकर सरकार की चितां को बढ़ा दिया है। तो आम जनता के मन में भी लॉकडॉउन की आशंकाओं को बढ़ा दिया है। बात की जाए तो आंकड़ों की तो कोरोना रोजाना दो गुनी रफ्तार से वृद्धि दर्ज की जा रही है। जहां भोपाल में आए दिन तीन अंकों में कोरोना के मरीज सामने आ रहे है तो इंदौर में भी अब यह आंकड़ा 500 के पार चला गया है। इसी तरह से प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी कोरोना रोजाना नए आंकड़े सामने आ रहे है। हालांकि प्रदेश सरकार कोरोना की तीसरी लहर को लेकर हर तरह से तैयार नजर आ रही है। यदि लॉकडॉउन की आशंकाओं की बात की जाए तो रात्रिकालीन लॉकडॉन एक सप्ताह पूर्व ही प्रदेश में लगा दिया गया था। लेकिन आम जनता लंबे लॉकडॉउन को लेकर आशंकित है तो इसका जबाव प्रदेश के गृहमंत्री ने गुरूवार को प्रेसवार्ता के दौरान बयान देकर साफ कर दिया कि अभी प्रदेश के हालात ऐसे नहीं है कि लॉकडॉउन का सामना करना पड़े। लेकिन लोगों को यह सर्तता बरतने की जरूरत है। जिससे आम जनता को कड़े नियमों का सामना नहीं करना पड़े।
चिकित्सा विभाग के ताजा आंकड़ों पर नजर घुमाई जाए तो मध्य प्रदेश में कोरोना के केस निरंतर बढ़ते जा रहे हैं। गुरुवार को 1,320 नए मामले सामने आए। हालांकि, प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि लॉकडाउन नहीं लगेगा। मध्य प्रदेश में कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं। हर नए दिन में पिछले दिन का रिकॉर्ड टूट रहा है। 6 जनवरी को प्रदेश में 1320 नए प्रकरण सामने आए। इनमें से इंदौर में 584 और भोपाल में 246 नए केस शामिल हैं। ग्वालियर में नए केस बढक़र 142 और जबलपुर में 92 तक पहुंच गए हैं। इसे मिलाकर प्रदेश में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या बढक़र 3,633 हो गई है। गुरुवार को भोपाल में एक मौत भी दर्ज हुई है।
अभी नहीं लगेगा लॉकडॉउन
डॉ. मिश्रा ने कहा कि फिलहाल लॉकडाउन का कोई प्रस्ताव गृह विभाग के पास विचाराधीन नहीं है। लॉकडाउन या कफ्र्यू की ओर नहीं जा रहे हैं। पिछली बार के वैरिएंट से यह वैरिएंट अलग है। पिछली बार की परिस्थितियां अलग थी और इस बार की अलग है। इस वजह से फिलहाल सावधानी बरतने पर ही हम पूरी ताकत लगा रहे हैं।
यह है नए आंकड़े
बीते 24 घंटों की बात करें तो इंदौर में सबसे अधिक 584 केस सामने आए हैं। इन्हें मिलाकर शहर में एक्टिव केस की संख्या बढक़र 1,716 हो गई है। इसी तरह भोपाल में 246 केस सामने आए हैं, जिससे एक्टिव केस बढक़र 632 हो गए हैं। ग्वालियर में 142 नए केस मिले, जिससे वहां एक्टिव केस बढक़र 330 हो गए। उसने जबलपुर को पीछे छोड़ दिया है, जहां 92 केस मिले और एक्टिव केस 235 हो गए हैं। अन्य शहरों की बात करें तो उज्जैन में 50, सागर में 31 और विदिशा में 29 नए केस मिले हैं। प्रदेश में जो नए केस मिले हैं, उनमें से 982 को वैक्सीन के दोनों डोज लगे हुए थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here