स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिला शिमला में विभिन्न गतिविधियों के लिए लगभग 2 करोड़ रुपए जारी किए गए है। जिला परिषद अध्यक्ष धर्मिला हरनोट ने बचत भवन में आयोजित स्वच्छ भारत मिशन की जिला स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि खंड स्तर पर स्कूल स्वच्छता अभियान के लिए पुरस्कार के तहत वर्ष 2018-19 में 9 लाख 90 हजार रुपए प्रदान किए गए, वहीं जिला स्तर पर स्कूल स्वच्छता पुरस्कार के लिए 1 लाख 50 हजार रुपए प्रदान करने की जानकारी दी।

उन्होंने खंड स्तर पर स्कूल स्वच्छता अभियान के लिए पुरस्कार के तहत 2019-20 में 9 लाख 90 हजार रुपए प्रदान किए गए, वहीं जिला स्तर पर स्कूल स्वच्छता पुरस्कार के लिए 1 लाख 50 हजार रुपए अनुमोदित किए गए। उन्होंने ठियोग ब्लाॅक के ग्राम पंचायत घूंड में कार्बनिक वेस्ट कन्वेटर मशीन तथा शेड को स्थापित करने के लिए 9 लाख 84 हजार 210 रुपए मिले हैं।

वही जिला के सभी ब्लाॅकों में प्लास्टिक कंप्रेशर मशीन को स्थापित करने के प्रस्ताव को भी अनुमोदित किया गया। धर्मिला हरनोट ने 5 ब्लाॅक में कार्यरत ब्लाॅक समन्वय के सेवा विस्तार की मंजूरी 31 मार्च, 2021 तक प्रदान की, जिसमें मशोबरा, नारकंडा, रामपुर, रोहडू, छौआरा ब्लाॅक शामिल है। वही डीआरडीए शिमला में ब्लाॅक समन्वयक, लेखाकार सह डाटा एंट्री आॅपरेटर के वेतन की वृद्धि में भी अनुमति प्रदान की। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त शिमला अपूर्व देवगन, परियोजना अधिकारी डीआरडीए शिमला संजय भगवती, विभिन्न खंड विकास अधिकारी एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *