भोपाल। देश के पहले चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के निधन से पूरा देश स्तब्ध है। हर कोई उन्हें नम आंखों से अपनी श्रद्धांजलि दे रहा है। जनरल बिपिन रावत के असमय निधन पर संसद में भी दो मिनिट का मौन रखा गया और उन्हे श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। बता दें कि श्री रावत बुधवार को हैलीकाप्टर क्रैश होने में शहीद हो गए थे। उनके साथ-साथ देश के 11 वीर सैनिक और श्री रावत की धर्मपत्नि श्रीमति मधुलिका रावत की भी मौत हो गई। वहीं एक अन्य अभी गंभीर अवस्था में उपचाररत है। अब एक वीडियो सामने आया है जो इस हेलीकाप्टर के क्रैश होने से पहले का है। बताया जा रहा है कि ये वीडियो कुछ स्थानीय पर्यटकों ने बनाया था। इसमें देखा जा सकता है कि क्रैश होने से पहले हेलीकाप्टर काफी नीचे उड़ रहा था और वहां पर घने बादल छाए थे। माना जा रहा है कि बुधवार को जब ये हेलीकाप्टर क्रैश हुआ उस वक्त मौसम बेहद खराब था और पायलट को शायद देखने में काफी दिक्कत आ रही होगी।

रक्षा मंत्री गुरुवार को संसद में कुन्नूर में बुधवार को हुए हेलीकाप्टर हादसे की जानकारी दे रहे हैं। इस हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत समेत कुल 13 लोगों की मौत हो गई थी। मरने वालों में सीडीएस की पत्नी भी शामिल हैं। इस हादसे में केवल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ही बच सके हैं, उनका भी इलाज चल रहा है। हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

संसद को इस हादसे की जानकारी देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि सीडीसी जनरल बिपिन रावत बुधवार को कुन्नूर के आर्मी सर्विस कालेज में संबोधन के लिए जा रहे थे। 11:48 पर इस हेलीकाप्टर ने सुलूर एयरबेस से उड़ान भरी थी। 12:15 बजे इस हेलीकाप्टर को लैंड करना था। उड़ान के कुछ देर बाद करीब दोपहर 12:08 बजे ही उनके हेलीकाप्टर का संपर्क एटीसी से टूट गया। बाद में स्थानीय लोगों ने जंगल में आग लगी थी। वहां पर पहुंचने पर उन्हें हेलीकाप्टर का पता ला। हादसे के तुरंत बाद स्थानीय लोगों ने वहां पर राहत कार्य चलाया गया। वहां पर रेस्क्यू आपरेशन चलाया गया।

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका का अंतिम संस्कार शुक्रवार को होगा। रावत, मधुलिका और हादसे में जान गंवाने वाले सभी लोगों के शव मद्रास रेजीमेंट सेंटर लाए गए हैं। यहां से रावत और मधुलिका की पार्थिव देह दिल्ली लाई जाएगी। संसद में राजनाथ सिंह ने कहा कि हादसे में बचे अकेले शख्स, ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, को वेलिंगटन अस्पताल में भर्ती किया गया है। उनकी जान बचाने की कोशिशें जारी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here