डब्ल्यूएचओ से इमरजेंसी अप्रूवल्स की राह पर कोवैक्सिन

नई दिल्ली। मिल रही खबरों पर गौर किया जाए तो स्वदेशी कोबिड सुराक्षा के मुख्य हथियार कोवैक्सिन को जुलाई से सितंबर के बीच डब्ल्यूएचओ से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिल सकती है। कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक 60 देशों में कोवैक्सिन के लिए रेगुलेटरी अप्रूवल्स की प्रॉसेस प्रगति पर है। इनमें अमेरिका और ब्राजील भी शामिल हैं। अप्रूवल के लिए डब्ल्यूएचओ-जिनेवा में भी एप्लीकेशन दे दी गई है।
कंपनी के मुताबिक, कोवैक्सिन को अब तक 13 देशों में मंजूरी मिल चुकी है। ज्यादातर देश अपने यहां आ रहे लोगों के वैक्सीनेशन पर जोर दे रहे हैं। जिन्हें टीका नहीं लगा है, वे कोबिड-19 टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट के साथ यात्रा कर सकते हैं।