नईदिल्ली।  मेरठ में पैरालम्पिक में शानदार प्रदर्शन से देश का मान बढ़ाने वाली प्रतिभाओं के सम्मान समारोह को संबोधित करते हुये केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि पश्चिमी उतर प्रदेश का मेडल जीतने में अहम योगदान रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया कि मेरठ में स्पोर्टस विश्विद्दालय बनाने का निर्णय उतर प्रदेश सरकार ने लिया है। उन्होंने कहा कि देशभर के पैरा एथलीटस् को उत्तर प्रदेश की खेलभूमि मेरठ में बुलाकर उन्हें सम्मानित करने ,उनका मनोबल बढ़ाने व भविष्य के खिलाड़ियों को प्रेरित करने के लिए मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ जी का हार्दिक आभार। इस अवसर पर 19 पदक जीतने वाले 17 खिलाडियो को व प्रतिभाग करने वाले 06 खिलाडियो को कुल रू0 32.50 करोड की धनराशि वितरित की गयी।

केंद्रीय खेल मंत्री ने कहा कि मेरठ ने अपने ब्रांड के बल्ले बनाकर प्रधानमंत्री मोदी का आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार किया है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 के बावजूद भी हमारे खिलाड़ी अभ्यास करते रहे ,डरे नहीं ,डटे रहे और भारत का मान बढा.उन्होंने कहा कि हर जिले का खेल और प्रतिस्पर्धा मिले इसके लिये सांसद खेल स्पर्धा का शुभारंभ किया गया है। उन्होंने कहा कि मेरठ खेल विश्वविद्दालय पूरे देश के लिये वरदान साबित होगा. उतर प्रदेश ओलंपिक सबसे ज्यादा मेडल जीतने वाला प्रदेश बनेगा।

केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने 17 पैरालंपिक विजेताओं को सम्मानित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अनुराग ठाकुर ने पैरालम्पिक में शानदार प्रदर्शन से देश का मान बढ़ाने वाली प्रतिभाओं को सम्मान राशि व स्मृति चिह्न से सम्मानित किया । स्वर्ण पदक विजेता को ₹02 करोड़, रजत को ₹1.5 करोड़ व कांस्य को ₹1 करोड़ की राशि दी गई.कार्यक्रम को केंद्रीय खेलमंत्री अनुराग ठाकुर और केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डा वीरेंद्र कुमार ने भी सम्बोधित किया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 1857 की क्रांति का बिगुल फुकने वाली मेरठ की क्रंातिधरा पर पैरा ओलंपिक खिलाडियो का वह स्वागत करते है। उन्होने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी के प्रेरणा व प्रोत्साहन तथा मा0 केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर जी के नेतृत्व में टोक्यो ओलंपिक व टोक्यो पैरा ओलंपिक में अब तक का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन खिलाडियो द्वारा किया गया। उन्होने कहा कि हर भारतवासी का यह नैतिक कर्तव्य बनता है कि भारत की पहचान को बढ़ावा देने वाले व वैश्विक पटल पर नाम रोशन करने वाले खिलाडियो का सम्मान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here