भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश के नागरिकों को कोविड के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से सुरक्षित करने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिर्फ मध्यप्रदेश बल्कि देश में इस वैरिएंट ने दस्तक दे दी। हर राज्य में ओमिक्रॉन से संक्रमित नागरिकों की संख्या सामने आ रही है। मध्यप्रदेश में भी 77 प्रकरण पॉजिटिव आए हैं। इनमें सर्वाधिक इंदौर में हैं। हम समय रहते सारी व्यवस्थाएँ कर रहे हैं ताकि हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें। साथ ही यह भी जरूरी है कि आमजन सभी सावधानियों का पालन कर सजग रहें। फेस मॉस्क के उपयोग, परस्पर दूरी जैसी सावधानियों का पूरा ध्यान रखा जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि इस समय प्रदेश में विभिन्न शासकीय और निजी अस्पतालों में करीब 60 हजार ‍बिस्तर क्षमता उपलब्ध है। कोविड केयर सेंटर भी तैयार रखने के निर्देश दिए गए है।

मुख्यमंत्री ने भोपाल के हमीदिया अस्पताल के विभिन्न वार्डों का निरीक्षण करने के बाद प्रदेश की जनता के नाम संदेश दिया। उन्होंने ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ओमिक्रान संक्रमण को रोकने के लिए संकल्पबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने राजधानी के सबसे बड़े अस्पताल के निरीक्षण के साथ ही पूरे प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य और उपचार सुविधाओं के लिए वे स्वयं निरंतर समीक्षा कर रहे है, यह क्रम आगे भी जारी रहेगा।

वैक्सीनेशन कार्य को मिली है गति

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश वैक्सीनेशन के कार्य में गतिशील है। प्रदेश के करीब सवा पाँच करोड़ लोगों को प्रथम और करीब पाँच करोड़ लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज़ लग चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों को मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाकर सभी के स्वास्थ्य की सुरक्षा सुनिश्चित की है। अब 15 से 18 वर्ष के बच्चों और 60 वर्ष से अधिक आयु के रोगग्रस्त नागरिकों को टीका लगाने का कार्य प्रारंभ हो रहा है। प्रदेश के विद्यालयों में बच्चों के लिए टीकाकरण केन्द्र संचालित होंगे। इसके लिए भी स्वास्थ्य कर्मियों को आवश्यक प्रशिक्षण देने का कार्य हुआ है। व्यवस्थाओं पर नजर रखते हुए हम सभी को सजग और सक्रिय रहना है।

सावधानियों के साथ मनाएँ नववर्ष

मुख्यमंत्री ने कहा कि नए साल का उत्सव भीड़ से बचते हुए मनाया जाए। नवीन वर्ष के उत्साह में सावधानी खत्म नहीं करना है। इससे हम संक्रमण के खतरे को नियंत्रित करने में सफल हो जाते हैं।

हमीदिया अस्पताल में बढ़ रही हैं सुविधाएँ

मुख्यमंत्री ने अस्पताल के नवीन भवन में हाई डेफिशियेन्सी यूनिट का निरीक्षण किया। बच्चों की इस इकाई में 30 बिस्तर की व्यवस्था है। उन्होंने एस.एन.सी.यू. पीडियाट्रिक्स वार्ड और आई.सी.यू. वार्ड का भी निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने सामान्य बेड, ऑक्सीजन बेड, आई.सी.यू. बेड, आवश्यक चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता और उनके सही तरीके से कार्य करने के संबंध में जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री ने इसके पूर्व अस्पताल परिसर में निर्मित 35 मीट्रिक टन की रोजाना क्षमता वाले ऑक्सीजन संयंत्र का भी निरीक्षण किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here