बोस्टन हमलावरों का मकसद पता लगाएंगे: ओबामा

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बोस्टन मैराथन स्थल पर किए गए हमले के पीछे का मकसद पता लगाने की शपथ ली है. अमेरिका में 9/11 के बाद हुए इस दूसरे बड़े हमले में तीन लोगों की जान चली गई थी तथा लगभग 180 लोग घायल हो गए थे.

हमले के दूसरे संदिग्ध जोखर सारनाइव को गिरफ्तार किए जाने के एक घंटे बाद ओबामा ने शुक्रवार रात 10 बजे के बाद व्हाइट हाउस से कहा, ‘बेशक, आज रात, अभी भी कई अनुत्तरित सवाल बरकरार हैं.’

ओबामा ने कहा, ‘कई अनुत्तरित सवालों में यह सवाल भी है कि हमारे समुदाय के बीच पलने-बढ़ने और शिक्षा प्राप्त करने वाले इन लोगों ने हिंसा का सहारा क्यों लिया?’ उन्होंने कहा, ‘उन्होंने यह योजना कैसे बनाई और इसे कैसे अंजाम दिया और क्या उन्हें कोई मदद मिली थी?’

ओबामा ने कहा कि उन्होंने संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) और डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी को जोखर और उसके बड़े भाई टैमरलैन को मिली मदद की जांच में सहयोग के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा, ‘हम यह निर्धारित करेंगे कि क्या हुआ था. हम आतंकवादियों को मिले किसी भी सहयोग की भी जांच करेंगे.’

ओबामा ने कहा कि दूसरे संदिग्ध की गिरफ्तारी ने इस त्रासदी के महत्वपूर्ण अध्याय को समाप्त कर दिया है लेकिन पीड़ितों के परिवार जवाब पाने के हकदार हैं.

ओबामा ने कहा कि यह घटना संघीय, राज्य या स्थानीय अधिकारियों के सहयोग के बिना सम्भव नहीं है और इसके मद्देनजर उन्होंने संघीय सरकार को जांच में पूरे संसाधन मुहैया कराने के आदेश दिए हैं.

आतंकवादियों का सम्बंध रूस के विवादग्रस्त मुस्लिम इलाके चेचन्या से पाए जाने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ‘इस वजह से हम कोई भी राय बनाने से पहले ख्याल रखते हैं, न उनके मकसद और न ही उनके संगठन के लोगों के बारे में कोई राय बनाते हैं.’

राष्ट्रपति ने कहा कि उनकी पृष्ठभूमि के आधार पर किसी को फैसला नहीं सुनाना चाहिए बल्कि उन पर निष्पक्ष सुनवाई होगी.