भोपाल।राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मध्यप्रदेश का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को प्रदेश में ही सम्मानजनक नौकरी दिलाने के लिए विभागों की भर्ती नीति में प्रावधान कराएँ, जिससे प्रदेश के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन मिले और खेलों के प्रति लोगों का रूझान भी बढ़े। इस आशय के निर्देश प्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने दिए। उन्होंने कहा कि रेलवे एवं अन्य राज्यों की भर्ती नीति की तर्ज पर उत्कृष्ट खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी दिलाने के लिये प्रस्ताव तैयार किए जायें। श्रीमती यशोधरा राजे यहाँ कम्पू स्थित राजमाता विजयाराजे सिंधिया खेल परिसर के सभाकक्ष में यहाँ की खेल गतिविधियों व सुविधाओं की समीक्षा कर रही थीं। 

सोमवार को आयोजित हुई इस समीक्षा बैठक में खेल और युवा कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव गुलशन बामरा, संचालक खेल और युवा कल्याण विभाग रवि कुमार गुप्ता, राजमाता विजयाराजे सिंधिया खेल परिसर में संचालित महिला हॉकी अकादमी के मुख्य कोच परमजीत सिंह, जिला खेल व युवा कल्याण अधिकारी जोसेफ बक्सला तथा भोपाल से आए अन्य वरिष्ठ अधिकारी और खेल परिसर के अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

खेल व युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि प्रदेश के उत्कृष्ट खिलाड़ियों को अपने ही राज्य में नौकरी दिलाने के लिये विभिन्न राज्यों और रेलवे की भर्ती नीति का अध्ययन कर प्रस्ताव तैयार कराएँ। उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव को सरकार से मंजूरी दिलाने के लिये हरसंभव प्रयास किए जायेंगे।

प्रदेश के खिलाड़ियों का प्रतिनिधित्व बढ़ाने पर जोर

खेल और युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने बैठक में जोर देकर कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश के खिलाड़ियों को बेहतर से बेहतर सुविधायें मुहैया कराएँ। साथ ही सभी तकनीकी बाधाओं को दूर कर ऐसी व्यवस्था बनाएँ, जिससे प्रदेश की खेल अकादमियों में प्रशिक्षणरत बच्चों को स्कूली स्तर की नेशनल चैम्पियनशिप में प्रतिनिधित्व मिले। उन्होंने कहा कि स्कूली खेल प्रतियोगिताओं के लिये जिले की टीमों में खेल अकादमी के बच्चों को भी शामिल कराएँ। 

अकादमी से बाहर के बच्चों को भी खेल सुविधायें मुहैया कराएँ

समीक्षा बैठक में खेल और युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा संचालित खेल अकादमियों में प्रशिक्षणरत बच्चों को तो उत्कृष्ट सुविधायें मिलें ही, साथ ही अकादमी से बाहर की खेल प्रतिभाओं को निखारने में भी अकादमी मदद करे। हमारा उद्देश्य यह हो कि खेल के क्षेत्र में प्रदेश देशभर में अग्रणी राज्य बने। 

अंतर्राष्ट्रीय हॉकी कैलेण्डर पर नजर रखें

अंतर्राष्ट्रीय स्तर की हॉकी प्रतियोगिताओं के कैलेण्डर पर भी नजर रखें। प्रयास ऐसे हों कि प्रदेश की हॉकी अकादमी में अध्ययनरत खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम में उचित स्थान मिले। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के लिये अकादमी की टीम भेजें। साथ ही बाहर के खिलाड़ियों को भी हॉकी अकादमी में खेलने के लिये बुलाएँ। साथ ही ध्यान रहे कि खिलाड़ियों को इस दौरान खान-पान व आवास सहित उत्कृष्ट खेल सुविधायें मिलें। खेल मंत्री ने प्रदेश में छिपी खेल प्रतिभाओं को ढूंढकर अकादमी में भर्ती कराने अर्थात टैलेंट सर्च पर विशेष बल दिया। 

हॉकी अकादमी सहित खेल परिसर की सुविधाओं की विस्तार से की समीक्षा 

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने राजमाता विजयाराजे सिंधिया खेल परिसर में संचालित महिला हॉकी अकादमी सहित खेल परिसर की समस्त सुविधाओं की विस्तार से समीक्षा की। साथ ही सुविधाओं को और बेहतर बनाने पर विशेष बल दिया। उन्होंने कहा इस काम में प्रदेश के पुराने हॉकी सितारों की भी मदद ली जाए। श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि खेल अकादमी में प्रशिक्षणरत बच्चों से अधिकारी प्रतिदिन संपर्क में रहकर उनकी कठिनाईयाँ और समस्यायें दूर करें। साथ ही कहा कि राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के कोच, मेडीकल सेवायें, गुणवत्तायुक्त पौष्टिक भोजन, अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खेल सुविधायें मुहैया कराने में प्रदेश सरकार कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here