क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में सीएम ने दिए निर्देश
भोपाल। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के नए म्यूटेंट ओमीक्रोन का प्रकोप बदस्तूर जारी है। लिहाजा समूची दुनिया फूंक-फंूक कर कदम रख रही है। जहां बीते दो वर्षो से देश में ही नही समूची दुनिया में कोरोना ने कहर बरपाया है। उसको देखते हुए केन्द्र और प्रदेश सरकार देश व प्रदेश में तीसरी लहर को लेकर मुश्तैद होती दिखाई दे रही है। हालांकि प्रदेश में अभी तक कोरोना के नए वेरियंट की पुष्टि तो नहीं हुई है। लेकिन बीते 15 दिनों की बात की जाए तो कोरोना के मरीजों की तादात में काफी इजाफा जरूर देखा गया है। बात करलें मध्यप्रदेश के दो महानगरों की तो भोपाल सहित इंदोर में भी कोरोना के नए मरीजों की संख्या में अचानक से बढ़त देखी गई है जो कि चिंता का विषय हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बढ़ते कोरोना के मरीजों की संख्या को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर और कमिश्ररों की बैठक में निर्देश दिए है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने भी नई कोरोना गाइडलाइन जारी की है।

मध्य प्रदेश में कोरोना के 24 घंटे में 17 नए केस मिले हैं। इसे देखते हुए सतर्कता बढ़ा दी गई है। गृहमंत्री मिश्रा ने कोविड-19 को काबू करने के लिए राज्य सरकार के फैसलों का बचाव करते हुए कमलनाथ पर हमला बोला है।
मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी को कोरोना का ‘क’ तो पता नहीं है। वे पहले भी ट्वीट कर रहे थे। अब भी कर रहे हैं। सरकार लोगों के स्वास्थ्य और जनहित को ध्यान में रखते हुए ही निर्णय लेती है। प्रदेश में बुधवार को 17 नए केस सामने आए हैं। इससे पहले मंगलवार को 20 नए केस सामने आए थे।

कोरोना के बढ़ते प्रभाव और सख्त होते नियमों के बीच कांग्रेस पार्टी ने सरकार पर तंज कसा है। वहीं कांग्रेस पार्टी पर पलटवार करते हुए प्रदेश के ग्रहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी कांग्रेस को आढ़े हातों लिया है। दरअसल, राज्य सरकार ने 17 नवंबर को कोरोना संबंधी सभी प्रतिबंध हटा लिए थे। अब केस बढ़ रहे हैं और ओमिक्रॉन वैरिएंट का खतरा बढ़ा है तो फिर से पाबंदियां लगाई जा रही हैं। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा था कि सरकार अगर 17 नवंबर को प्रतिबंध नहीं हटाती तो स्थिति नहीं बिगड़ती। इससे जुड़े सवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए डॉ. मिश्रा ने कहा कि पूरे कोरोना काल में घर में बैठकर ट्वीट कर सियासी रोटियां सेंकने वाले कमलनाथ जी को कोई भी सवाल उठाने से पहले जरा जमीनी हकीकत का भी पता कर लेना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here