दक्षिण 24 परगना. पश्चिम की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर राज्य में नागरिकता कानून (सीएए) और नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) लागू नहीं करने की बात कही है। मंगलवार को उन्होंने कहा- मैं आपकी पहरेदार हूं। अगर कोई लोगों के अधिकार छीनने की कोशिश करेगा, तो उसे मेरी लाश पर से गुजरना होगा। ममता नागरिकता कानून के विरोध में राज्यभर में रैलियां कर रही हैं।

मंगलवार को दक्षिण 24 परगना के पाथर प्रतिमा में आयोजित रैली में ममता ने कहा, “राज्य में सीएए, एनपीआर और एनआरसी लागू नहीं होगा। यदि आपके पास कोई आए और आपसे आपकी जानकारी मांगे तो उसे मत देना।” उन्होंने कहा कि जब तक वह जिंदा हैं, राज्य में नागरिकता कानून लागू नहीं होगा।

शुक्रवार को मोदी पर टिप्पणी की

शुक्रवार को एक रैली के दौरान ममता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था, “प्रधानमंत्री बार-बार भारत की तुलना पाकिस्तान से क्यों करते हैं? मोदी भारत के प्रधानमंत्री हैं, या पाकिस्तान के राजदूत। भारत एक बड़ा देश है। इसकी संस्कृति और विरासत बेहद समृद्ध है। प्रधानमंत्री लगातार इसकी तुलना पाकिस्तान जैसे देश से क्यों करते हैं? हर मसले पर आप पाकिस्तान का उदाहरण क्यों देते हैं।”

संसद ने नागरिकता कानून पारित किया

सरकार ने शीतकालीन सत्र के दौरान, पिछले साल ‘नागरिकता संशोधन कानून 2019’ पारित किया था। इसमें बंगलादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में प्रताड़ित धार्मिक अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है। इसके साथ ही एनआरसी लागू करने को भी मंजूरी मिली थी। देश के कई हिस्सों में इसके खिलाफ हिंसक प्रदर्शन भी हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *