मुंबई । Maharashtra Government. महाराष्ट्र सरकार ने राज्य सरकार के कर्मचारियों के लिए पांच दिन काम करने को मंजूरी दे दी है। अब यहां के कर्मचारियों को हफ्ते में दो दिन छुट्टी मिलेगी। यह फैसला बुधवार को महाराष्ट्र कैबिनेट की बैठक में लिया गया। यह 29 फरवरी से लागू होगा।

गौरतलब है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता और महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि जो लोग शरद पवार के ट्रस्ट को जमीन देने के राज्य सरकार के फैसले का विरोध कर रहे हैं, उन्हें इस बाबत पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से पूछना चाहिए। उन्होंने ही इस फैसले को मंजूरी प्रदान की थी।नवाब मलिक ने कहा कि जमीन इंस्टीट्यूट के लिए किराये पर दी गई है, न कि उनकी पार्टी के नेता शरद पवार को। वह सिर्फ उसमें ट्रस्टी हैं।

उन्होंने कहा कि इससे पहले भी इंस्टीट्यूट्स को अनुदान दिए गए हैं। राज्य के राजस्व एवं वित्त विभाग द्वारा कथित रूप से इस पर आपत्ति जताने के बारे में नवाब मलिक ने कहा, ‘निश्चित रूप से विभाग ने अपने विचार प्रकट किए हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि यह जमीन बेच दी गई है.. यह 30 साल के लिए किराये की जमीन है और इसका इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ फसलों और बीजों के आविष्कार के लिए किया जाएगा। यह मराठवाड़ा के किसानों के हित में है।’ उन्होंने कहा कि यह सही है कि शरद पवार इस संगठन के प्रमुख हैं, लेकिन भाजपा समेत कई दलों के नेता और विधायक इसका हिस्सा हैं।

वहीं, दिल्ली में भाजपा की करारी हार ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे एवं राकांपा अध्यक्ष शरद पवार को भी भाजपा पर टिप्पणियां करने का मौका दे दिया है। कभी भाजपा के सहयोगी रहे उद्धव ने केजरीवाल और दिल्ली की जनता को बधाई दी, तो शरद पवार ने कहा है कि अब भाजपा की हार का सिलसिला रुकने वाला नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *