रांची.  विधानसभा सत्र के आखिरी दिन बुधवार को सदन मेंराज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग के लिए आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार बताया। इसके बाद विपक्ष वेल में आ पहुंचा और स्पीकर से इरफान अंसारी को बर्खास्त करने की मांग करने लगे। जब विपक्ष के विधायक वापस सीट पर बैठे तो इरफान ने अपनी बात दोहराई, इसके बाद दोबारा विपक्ष के विधायक वेल में आ पहुंचे और इरफान से माफी मांगने की मांग करने लगे। फिलहाल, सदन की कार्रवाई दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

तबरेज कोई आतंकवादी या हत्यारा नहीं था: इरफान अंसारी

विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने हेमंत सोरेन पर अखबारों के जरिए कई आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार रघुवर दास के पास रहे सभी विभागों की जांच कराई जाएगी। इरफान अंसारी ने कहा कि जो दोषी होंगे वे जेल जाएंगे। इरफान ने कहा कि सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन कर पूर्व की सरकार जमीन लूट लेती अगर हम लोग उस वक्त विपक्ष में न होते। उन्होंने कहा कि पारा शिक्षकों के लिए हेमंत सरकार न्याय करने का काम करेगी। जामताड़ा विधायक ने कहा कि पूर्व की सरकार ने पूरे राज्य में कमल क्लब बनाकर आदिवासी युवाओं के साथ भेदभाव किया था। हेमंत सरकार में पूरे राज्य में एक भी कमल क्लब नहीं रहेगा। इरफान ने कहा कि तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग केस में हेमंत सरकार कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि तबरेज अंसारी कोई आतंकवादी और हत्यारा नहीं था। उन्होंने आरोप लगाया कि आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं ने षड्यंत्र के तहत तबरेंज अंसारी को मार दिया।

इरफान के बयान पर वेल में पहुंचा विपक्ष
चर्चा के दौरान जब इरफान अंसारी तबरेज अंसारी पर बोल रहे थे तभी विपक्ष के विधायक वेल में आ गए और उन्होंने इरफान अंसारी को सदन से बर्खास्त करने की स्पीकर से मांग करने लगे। इस दौरान रांची से भाजपा विधायक सीपी सिंह ने कहा कि क्या इरफान अंसारी के पास इसका प्रमाण है कि तबरेज अंसारी को किसने मारा। उन्होंने स्पीकर रवींद्र नाथ महतो को संबोधित करते हुए इरफान से माफी मांगने की बात कही। इसके बाद विपक्ष के विधायक दूसरी बार वेल में आकर हंगामा करने लगे। उन्होंने कहा कि इरफान अंसारी को उनके बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए।

सीपी सिंह ने कहा- इरफान के पास क्या प्रमाण है

रांची से भाजपा के विधायक सीपी सिंह ने इरफान अंसारी के बयान पर कहा कि उनके पास क्या प्रमाण है कि इरफान अंसारी मॉब लिंचिंग केस में आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं का हाथ है। इससे पहले इरफान ने पूर्व की रघुवर सरकार के विभागों की जांच कराने की बात कही जिसपर हजारीबाग से भाजपा विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि इरफान की मंशा क्या है, वे स्पष्ट करें। इसके अलावा चर्चा के दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच स्थानीयता नीति, सीएनटी-एसपीटी एक्ट और रोजगार के मुद्दे पर सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष में जमकर नोकझोक हुई।

लोबिन हेम्ब्रम ने कहा- बेरोजगारों को नौकरी देने के लिए हेमंत सरकार कृतसंकल्पित

झामुमो विधायक लोबिन हेम्ब्रम ने सीएनटी-एसपीटी एक्ट को लेकर कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने इस एक्ट से छेड़छाड़ की कोशिश की थी। इसके बाद जब सत्ता पक्ष के विधायक ने स्थानीयता नीति को लेकर बोलना शुरू किया और कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने स्थानीयता नीति को लागू किया जिसके तहत आरा,बलिया, छपरा और दरभंगा समेत झारखंड से आए लोगों को बाहरी बताया। उन्होंने कहा कि बाहर से आए लोगों के बच्चों को नहीं बल्कि यहां के लोगों को प्रमुखता से पहले नौकरी मिलनी चाहिए। इसके बाद विपक्ष के विधायक भानू प्रताप शाही और लोबिन हेम्ब्रम के बीच तू-तू मैं-मैं होने लगी। भानू प्रताप शाही ने कहा कि हेमंत सरकार ने सरकार बनने के छह महीने बाद पांच लाख नौकरी की बात कही थी, हम छह महीने इंतजार करेंगे। इसके बाद लोबिन हेम्ब्रम ने कहा कि सभी बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी, फिर शाही ने कहा कि आपने नौकरी देने से पहले भत्ता की बात भी कही थी। इसके बाद लोबिन हेम्ब्रम ने कहा कि हेमंत सरकार कृतसंकल्पित है कि सभी बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी।

स्पीकर ने इरफान से बयान पर खेद व्यक्त करने को कहा
इरफान अंसारी के बयान पर स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने उन्हें खेद व्यक्त करने को कहा। इरफान ने कहा कि इन्होंने (आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं) तबरेज अंसारी और मिराज अंसारी को मारा है। इरफान अंसारी कभी माफी नहीं मांगेगा। उधर, विपक्ष लगातार वेल में इरफान से माफी की मांग करते रहे। 

भाजपा कार्यकर्ता ने की इरफान अंसारी की हत्या: इरफान
सदन के स्थगित होने के बाद इरफान अंसारी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इरफान अंसारी की हत्या की गई और उसे भाजपा की सरकार ने चोर बताया। उन्होंने कहा कि इरफान अंसारी को मारने वाला भाजपा कार्यकर्ता था और उसका नाम अमित मंडल है। उन्होने कहा कि दोषी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने मामले में धारा से छेड़छाड़ का आरोप भी लगाया।

वहीं भाजपा के बोकारो विधायक ने कहा कि स्पीकर के बार-बार खेद व्यक्त करने के आग्रह के बावजूद भी इरफान ने माफी नहीं मांगा। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि ये विधानसभा और स्पीकर का अपमान है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि जब तक इरफान माफी नहीं मांगते हैं, विपक्ष सदन नहीं चलने देगा। उधर, मनीष जायसवाल ने कहा कि इरफान अंसारी मंत्री नहीं हैं, सरकार के विधायक हैं। जब उन्होंने पूर्व की रघुवर दास की सरकार के विभागों की जांच करने की बात कही तो उस वक्त हेमंत सोरेन सदन में मौजूद थे। सरकार को गलत लगता है तो वे विभागों की जांच कराए लेकिन इरफान अंसारी का कहना कि वे पूर्व की सरकार के विभागों की जांच कराएंगे, उनकी मंशा को दर्शाता है। मनीष ने कहा कि जबतक इरफान माफी नहीं मांगेगे, विपक्ष सदन नहीं चलने देगा।

विपक्ष ने हेमंत सरकार को कांग्रेस के कंट्रोल में बताया
चंदनकियारी से भाजपा के विधायक अमर बाउरी ने कहा कि इरफान अंसारी का बयान गलत है। उन्होंने कहा कि कोई व्यक्ति दोषी हो सकता है, कोई संस्था कैसे दोषी हो सकती है? उन्होंने कहा कि माफी मांगने के लिए स्पीकर के बोलने के बावजूद इरफान का माफी न मांगने की बात कहने की बात उनके और कांग्रेस के अहंकार को दिखाता है। अमर बाउरी ने कहा कि हेमंत सरकार कांग्रेस के कंट्रोल में है। 

बहरागोड़ा विधायक समीर मोहंती को दिलाई गई शपथ
पांचवें विधानसभा के पहले सत्र के आखिरी दिन बहरागोड़ा से झारखंड मुक्ति मोर्चा के नवनिर्वाचित विधायक समीर मोहंती को स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने शपथ दिलाई। समीर ने बांग्ला में शपथ लिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *