नईदिल्ली।  विद्युत मंत्रालय के अधीन केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) ने दिसंबर माह तक 40395.34 करोड़ रुपये का पूंजीगत व्यय किया है। यह पूंजीगत व्यय वित्तवर्ष 2020-21 के इसी अवधि में हुये पूंजीगत व्यय से 47 प्रतिशत अधिक है।

इस तरह, मंत्रालय का पूंजीगत व्यय प्रदर्शन पिछले वर्ष की तुलना में काफी बेहतर है। उल्लेखनीय है कि सीपीएसई ने वित्तवर्ष 2021-22 के पूंजीगत व्यय लक्ष्य, यानी 50,690.52 करोड़ रुपये का 80 प्रतिशत पूरा कर लिया है। विद्युत मंत्रालय के अधीन सीपीएसई में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली कंपनियों में पावरग्रिड (90.6 प्रतिशत), एसजेवीएन (90.19 प्रतिशत), एनटीपीसी (86.5 प्रतिशत) और टीएचडीसी (85.38 प्रतिशत) शामिल हैं।

विद्युत मंत्रालय ने हमेशा बिजली क्षेत्र की परियोजनाओं के लिये पूंजीगत व्यय में तेजी लाने पर जोर दिया है। परियोजनाओं के निर्बाध क्रियान्वयन सम्बंधी मुद्दों के समाधान के लिये नियमित रूप से निगरानी और समीक्षा की जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here