विनायक दामोदर सावरकर यानी वीर सावरकर के पोते (grand nephew) रंजीत सावरकर ने कांग्रेस के खिलाफ 100 करोड़ रुपये के मानहानि का केस करने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि निराधार आरोप लगाकर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी वीर सावरकर का अपमान करने की कोशिश की गई. लिहाजा ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के खिलाफ 100 करोड़ रुपये के मानहानि का मुकदमा किया जाएगा.

हाल ही में महाराष्ट्र कांग्रेस के मुखपत्र ‘सिरोड़ी’ में वीर सावरकर को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की गई थी. इससे पहले दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने ‘रेप इन इंडिया’ वाले विवादित बयान पर माफी नहीं मांगने की बात करते हुए वीर सावरकर का जिक्र किया था. राहुल गांधी ने कहा था, ‘मैं वीर सावरकर नहीं हूं, मेरा नाम राहुल गांधी है. मैं माफी नहीं मांगूंगा.’

इसके बाद रंजीत सावरकर ने राहुल गांधी से माफी मांगने की मांग की थी. इसको लेकर बीजेपी ने भी कांग्रेस और राहुल गांधी पर हमला बोला था. साथ ही शिवसेना ने कांग्रेस को आंख दिखाई थी. रंजीत सावरकर ने उस बार भी राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का केस करने की बात कही थी.

अब पिछले महीने महाराष्ट्र कांग्रेस के मुखपत्र ‘सिरोड़ी’ में वीर सावरकर को लेकर अपमानजनक प्रकाशन किया गया था. इस रंजीत सावरकर ने कहा था कि राजनीतिक फायदे के लिए कांग्रेस बार-बार वीर सावरकर और उनकी विरासत पर हमला करती आ रही है, लेकिन हमको उम्मीद नहीं थी कि कांग्रेस पार्टी इतने नीचे गिर जाएगी.

रंजीत सावरकर ने कहा था कि वीर सावरकर पर कांग्रेस के हमले ने महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस महागठबंधन की सरकार उद्धव ठाकरे सरकार को शर्मिदा कर दिया है. उन्होंने कहा था कि मानहानि, आपराधिक साजिश और भारतीय दंड संहिता यानी आईपीसी के तहत कांग्रेस के नेताओं पर केस दर्ज होना चाहिए.

उन्होंने महाराष्ट्र कांग्रेस के मुखपत्र ‘सिरोड़ी’ पर बैन लगाने की भी मांग की थीरंजीत सावरकर ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से अपील की थी कि वो सावरकर के खिलाफ अपमानजनक प्रकाशन के लिए कांग्रेस पार्टी, उसके पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य कांग्रेस नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज कराएं. इसके अलावा वीर सावरकर को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी कांग्रेस पर पलटवार किया था. उन्होंने कहा था, ‘वीर सावरकर एक महान आदमी थे और हमेशा रहेंगे. जो हमेशा सावरकर के खिलाफ बोलते हैं, ये उनके दिमाग की गंदगी को उजागर करता है.

इसके साथ ही महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने भी कांग्रेस और शिवसेना पर हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि अगर बालासाहेब ठाकरे होते, तो वो वीर सावरकर के खिलाफ इस तरह की गंदी टिप्पणियों को कभी बर्दाशत नहीं करते.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *