श्रीनगर में फिदायीन हमला, CRPF के पांच जवान शहीद, दो आतंकी ढेर

रीनगर : श्रीनगर में अर्धसैनिक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के शिविर पर बुधवार को आतंकी हमला हुआ। श्रीनगर में सुरक्षाबलों के शिविर पर हमले में सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए और दो आतंकवादी भी ढेर कर दिए गए। यह घटना श्रीनगर के बिमना इलाके में हुई। जानकारी के मुताबिक, इस घटना में सीआरपीएफ के सात अन्‍य जवान घायल हो गए, जिनमें दो जवान की हालत काफी गंभीर है।

जानकारी के अनुसार, सीआरपीएफ के कैंप पर हमला करने के बाद आतंकी पास में ही एक स्‍कूल के अंदर छुप गए। उस वक्‍त स्‍कूल के बाहर बच्‍चे खेल रहे थे। जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में सीआपीएफ के जवानों ने स्‍कूल की घेराबंदी कर ली। मुठभेड़ में जवानों ने दो आतंकियों को मार गिराया। सुरक्षा बलों की आतंकियों के साथ काफी देर तक मुठभेड़ हुई।

सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान में स्‍कूल परिसर के अंदर से आतंकियों के दो शवों को बरामद किया है। हालांकि पुलिस का तलाशी अभियान अभी जारी है। स्‍कूल परिसर के आसपास के क्षेत्र को जवानों ने अपने घेरे में ले लिया है और इलाके को सील कर दिया गया है।

सूत्रों के अनुसार, इस हमले में आतंकी संगठन लश्‍कर-ए-तोएबा का हाथ है। आतंकी क्रिकेट किट में हथियार छुपाकर लाए थे।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि आतंकवादियों ने श्रीनगर शहर के बेमिना इलाके में सीआरपीएफ के शिविर पर हमला किया। आतंकवादियों एवं सुरक्षा कर्मियों के बीच अंधाधुंध गोलीबारी हुई, जिसमें दो आतंकवादी मारे गए और सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए। पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमले में सीआरपीएफ के चार जवान और तीन नागरिक घायल हो गए, जिनका उपचार चल रहा है। इलाके को चारों ओर से घेर लिया गया है। इस साल शहर में यह पहला आतंकवादी हमला है। फिलहाल किसी गिरोह ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है।

वहीं, केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह ने कहा कि इस हमले के तार पाकिस्‍तान से जुड़े हो सकते हैं। पाकिस्‍तानी हो सकते हैं हमलावर। उन्‍होंने कहा कि चार आतंकियों के घुसपैठ की खबर थी जबकि मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए हैं।

उधर, मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने जम्मू में राज्य विधानसभा में बताया कि सुबह पौने ग्यारह बजे हुए हमले में तीन नागरिक भी घायल हो गए। तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया जहां उनकी हालत खतरे से बाहर है। आईजीपी (कश्मीर) अब्दुल गनी मीर ने घटनास्थल पर संवाददाताओं को बताया कि पांच जवान शहीद हो गए हैं और सात घायल हुए हैं। घायलों में चार से पांच सीआरपीएफ के जवान हैं।

उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि हमला करने वाले दो आतंकवादी थे या तीन, जिन्होंने सीआरपीएफ के शिविर पर ग्रेनेड फेंके और अंधाधुंध गोलीबारी की। किसी भी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। मीर ने कहा कि दो फिदायीन मारे गए हैं और तलाशी जारी है। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के समूह और उनकी पहचान की जांच की जा रही है।