इंदौर. राष्ट्रीय स्वयं सेवकसंघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत ने मंगलवार दाेपहर आचार्य विद्यासागरजी के दर्शन किए। संघ प्रमुख यहां तिलक नगर स्थित लवकुश विद्या विहार स्कूल पहुंचे और आचार्य से आशीर्वाद लिया। सूत्रों के अनुसार, संघ प्रमुख और आचार्यजी के बीच हथकरघा और हिंदी भाषा के संबंध में चर्चा हुई। संघ प्रमुख के साथ सर कार्यवाहक भैयाजी जोशी ने भी आचार्य से आशीर्वाद लिया। इस दौरान संघ प्रमुख ने यहां हथकरघा से बने कपड़ाें को भी देखा। भागवत यहां आरएसएस की अखिल भारतीय बैठक में शामिल होने इंदौर आए हैं।

लक्ष्य पाना जानता है इंदौर : विद्यासागरजी
इससे पहले आचार्य विद्यासागर ने उदय नगर जैन मंदिर में धर्मसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि इंदौर में प्रतिभा स्थली जैसी कई और भी योजनाएं आ जाएं तो इन कार्यों को करने की क्षमता यहां विद्यमान है। धन के द्वारा सबकुछ काम होता है- ऐसा नहीं है, तन भी जरूरी है। सभी बड़े कार्यों में दान की आवश्यकता और जो दान देते हैं ऐसे दानशील लोगों का महत्व भी होता है, किंतु मात्र दान देने से कार्य कभी पूर्ण नहीं हो पाते, उसमें समय देने वाले कार्यकर्ताओं का भी अपना महत्व होता है। दान देने वाले अपने काम में लग जाएंगे, लेकिन काम करने वाले सो भी नहीं सकेंगे। सोने का मतलब है कि जब कोई काम नहीं रहता है तो निंद्रा आने लगती है, लेकिन आप लोगों ने ऐसा काम ले लिया है अपने कंधों पर कि जल्दी विश्राम नहीं ले पाओगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *