भोपाल।  मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध हैंडलूम की छटा छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में देखने को मिलेगी। आज रायपुर स्थित ग्रॉस मेमोरियल ग्राउंड सिविल लाइन में मध्यप्रदेश कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग की प्रबंध संचालक श्रीमती अनुभा श्रीवास्तव ने स्पेशल हैंडलूम एक्सपो 2021 की शुरुआत की। यह एक्सपो 11 से 24 नवंबर तक आयोजित किया जा रहा है। “माय हैंडलूम माय प्राइड” थीम के तहत आयोजित इस प्रदर्शनी में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ के अलावा अन्य सात राज्यों उत्तरप्रदेश, बिहार, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, राजस्थान और आंध्रप्रदेश के स्वदेशी वस्त्र उपलब्ध रहेंगे, यहां साथ ही मध्यप्रदेश के मृगनयनी ब्रांड की प्रसिद्ध बाघ प्रिंट सहित अन्य उत्पाद आगंतुक किफायती दामों पर खरीद सकेंगे।

प्रबंध संचालक कुटीर एवं ग्रामोद्योग श्रीमती अनुभा श्रीवास्तव ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत आत्मनिर्भर भारत – आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश संकल्पना को साकार करने के लिए श्रंखलाबद्ध आयोजनों की यह एक कड़ी है, जिसमें हमारे देश की गांव, मिट्टी में रचे बसे कारीगरों की मेहनत को एक मंच प्रदान किया जा रहा है। हैंडलूम वस्त्र खरीदने से हम स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा देते हैं, जिससे बहुत से घर चलते हैं। यहां हैंडलूम की विविध विधाओं को देखते का अवसर मिलेगा, जहां हाथ से बने विश्वस्तरीय कपड़े एक ही छत के नीचे मिलेंगे।

सात राज्यों की सिल्क साड़ियां और घरेलू सजावट के सामान की भरमार

यहां विभिन्न राज्यों से आए बुनकरों के हस्तशिल्प के सामान जैसे साड़ी, सूट, बैडशीट, कालीन, कुशन कवर, पिलो आदि उपलब्ध है, जिनमें सात राज्यों की सिल्क साड़ियां विशेष आकर्षण का केंद्र है। यहां मृगनयनी एंपोरियम रायपुर के द्वारा रॉयल हेरिटेज के अंतर्गत तैयार महेश्वरी साड़ियां तथा सांची स्तूप पर आधारित दुपट्टे भी उपलब्ध हैं, जिसमें सांची एवं खजुराहो की ऐतिहासिक धरोहर प्रतिकृति हाथकरघा के माध्यम से उकेरी गई है।

यह आयोजन वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार से संत रविदास मध्य प्रदेश हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम‌एवं छत्तीसगढ़ हाट परिसर, पंडरी रायपुर द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here